गुरुवार, 14 जून 2012

कालेधन पर अब मुलायम ने किया स्वामी रामदेव का समर्थन

नई दिल्ली: सम्राजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने काले धन के खिलाफ स्वामी रामदेव की मुहिम में उनको अपना समर्थन देने की मंगलवार को दिल्ली में घोषणा की। इस मौके पर स्वामी रामदेव ने कहा कि केन्द्र सरकार के गलत कामों में उनके सहयोगी दल साथ नही हैं। स्वामी रामदेव ने अपनी मुहिम में विभिन्न पार्टियों के प्रमुखों से मुलाकात के सिलसिले में आज सपा प्रमुख से मुलाकात कर समर्थन मांगा। दोनों की बातचीत के बाद मुलायम ने संवाददाताओं को बताया, “हम शुरु से कालेधन के खिलाफ है और लोहिया, जयप्रकाश के समय से इस मुद्दे को उठाया जाता रहा है।“ उन्होने कहा, “बीच में यह लडाई कमजोर हो गई थी लेकिन स्वामी रामदेव ने इसे पुनर्जीवित कर दिया है। काला धन देश में वापस आना चाहिए।“ सपा प्रमुख ने जहां स्वामी रामदेव को अपना समर्थन जताया, वहीं भ्रष्टाचार के मुहिम में योग गुरु की सहयोगी टीम अन्ना को आडे हाथों लिया। केजरीवाल द्वारा उनपर नाम लेकर निशाना साधे जाने के बारे में पूछे जाने पर मुलायम ने कहा, “हम ऐसे लोगों को कोई तवज्जों नही देते।“ स्वामी रामदेव ने कहा कि सरकार के गलत कामों में, चाहे वह पेट्रोल का दाम बढाना हो या स्वामी रामदेव को बदनाम करना, उसमें शरद पवार, अजित सिंह, ममता बनर्जी, मुलायम सिंह यादव केन्द्र के साथ नही है और न कभी होंगे। 
       स्वामी रामदेव के ट्रस्ट को ईडी का नोटिस भेजे जाने की खबरों पर कडे तेवर दिखाते हुए स्वामी रामदेव ने कहा, “हमारे खिलाफ अब तक एक भी आरोप साबित नही हुआ है। यह कालेधन के खिलाफ हमारे मुहिम को कमजोर करने की कोशिश है।“ उन्होंने कहा कि सरकार से यह उम्मीद नहीं की जाती कि वह जनता को सताए और लोगो को बदनाम करे। योग गुरु ने कहा, “सरकार से हाथ जोड कर प्रार्थना है कि पूरा देश उसकी ओर देख रहा है, इसलिए कुछ अच्छे कदम उठाए।“ इससे पहले भाजपा, अकाली दल, तेदेपा और राकपा प्रमुखों से मुलाकात कर समर्थन मांग चुके स्वामी रामदेव ने कहा कि कल वह बीजद प्रमुख और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाकात करेंगे। स्वामी रामदेव ने कहा कि उन्होंने बसपा प्रमुख मायावती, अन्नाद्रमुक प्रमुख जयललिता और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात के लिए स

काले धन के मुद्दे पर मुलायम से मिले स्वामी रामदेव

नई दिल्ली। योग गुरु स्वामी रामदेव काले धन के खिलाफ अपनी मुहिम में राजनीतिक दलों को साधने में लगे हुए हैं। इसी क्रम में आज उन्होंने समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की। दिल्ली स्थित मुलायम के आवास पर हुई मुलाकात में स्वामी रामदेव ने एसपी मुखिया से काले धन के खिलाफ आंदोलन में समर्थन मांगा। बता दें कि मुलायम से मुलाकात के पहले स्वामी रामदेव ने सोमवार को ही टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू से भी मुलाकात की थी। चंद्रबाबू नायडू ने स्वामी रामदेव और अन्ना दोनों को भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष में पूरा सहयोग देने का वादा किया है। स्वामी रामदेव अपनी मुहिम में सहयोग के लिए अब तक नागरिक उड्डयन मंत्री अजीत सिंह, बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी से भी मिल चुके हैं। स्वामी रामदेव ने कहा है कि उन्होंने प्रधानमत्री और यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी से भी मिलने का समय मांगा है।

मुलाकात के बाद स्वामी रामदेव ने कहा कि वो बुधवार को इसी मुद्दे पर उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाकात करने जा रहे हैं। जिसके बाद ममता और मायावती से भी उनके मिलने का कार्यक्रम है। उनका उद्देश्य काले धन के मुद्दे पर सभी दलों को एक करना है।

(साभार:http://khabar.ibnlive.in.com/news/74623/12/4 समाचार के सम्पादित अंश| यह समाचार विभिन्न समाचार पत्रों से प्रकाशित खबरों से मात्र सूचना के उद्देश्य से लिये गये है।)

मंगलवार, 15 नवंबर 2011

ऊर्जा का सिद्धांत

एक सैल (कोशिका) से लेकर पूरा पिण्ड (शरीर) व एक-एक परमाणु से लेकर पूरा ब्रह्माण्ड एनर्जी (ऊर्जा) के सिद्धांत पर कार्य करता है। योग, प्राणायाम, ध्यान, यज्ञ, जड़ी-बूटियों के सेवन से हमारे भीतर एक सकारात्मक शक्ति का सृजन होता है तथा रोग, नशा, समस्त अशुभ विचार, अज्ञान, अविद्या, क्लेश, शरीर, इन्द्रियों व मन आदि के सब दोष नष्ट हो जाते हैं और मानव महामानव बन जाता है। जैसे मोबाईल की बैटरी 30 मिनट में चार्ज होने के बाद, हम पूरा दिन मोबाईल पर बात कर सकते हैं वैसे ही प्रतिदिन योग, प्राणयाम, ध्यान द्वारा शरीर, मन व आत्मा को चार्ज कर सकते हैं।

आदर्श की स्थापना

-आदर्श-जीवन, आदर्श-परिवार, आदर्श-समाज, आदर्श-राष्ट्र व आदर्श-राज्य व्यवस्था हमारा लक्ष्य है। हम जीवन में सदा उच्च आदर्शों पर चलने में ही गौरवान्वित महसूस करते हैं तथा जिन्होंने उच्च आदर्शों से युक्त जीवन जीया उनको ही अपना आदर्श मानते हैं तथा स्वयं भी जीवन में उच्च आदर्शों की स्थापना करना चाहते हैं।

जीवन-प्रबन्धन

 प्रतिदिन 1 घन्टा योग, 8 से 16 घन्टे कर्मयोग, 6 घन्टे निद्रा व 2 घन्टे परिवार के साथ बैठना, यह जीवन प्रबन्धन का सिद्धांत है ।

विचार की शक्ति

जीवनव मन एक खेत की तरह है तथा विचार बीज की तरह। जीवन व चित्त-रूपी भूमि में जैसे विचारों के बीज डालेंगे वैसा ही हमारा जीवन, आचरण व चरित्र हो जायेगा। हम जो कुछ भी हैं सदाचारी-दुराचारी, हिंसक-अहिंसक, शाकाहारी-मांसाहारी, सुखी-दु:खी, सफल-असफल, शांत-अशांत, आस्तिक-नास्तिक, ईमानदार-बेईमान, अच्छे या बुरे आदि सब कुछ हमारे विचारों के कारण से हैं। अत: ऊँचे व श्रेष्ठ विचार ही महान् जीवन के आधर होते हैं।

व्यक्ति की शक्ति

भगवान ने प्रत्येक व्यक्ति को प्रथम होने की शक्ति, सामथ्र्य व ज्ञान दिया है। जो क्षमता सृष्टि के आदिकाल से अब तक विश्व के महान~ आदर्श महापुरूषों में थी वही सम्पूर्ण क्षमता हम सब में है। अत: हमें जीवन के हर श्रेष्ठ क्षेत्र में प्रथम बनना है तथा अपने देश को भी प्रथम बनाना है। हमारे राष्ट्र में भी विश्व के प्रथम राष्ट्र होने की सम्पूर्ण क्षमता है।